hand sanitizer

दुनियाभर में कोरोनावायरस अब तक करीब 5 हजार लोगों की जान ले चुका है। लाखों मरीज इससे संक्रमित हैं। कोरोनावायरस के डर से मास्क और हैंड सेनेटाइजर का इस्तेमाल भी काफी बढ़ गया है। मेडिकल स्टोर में मास्क और हैंड सैनेटाइजर की कमी हो गई है। कई मेडिकल संचालक 150 रुपए वाला सैनेटाइजर अब 200 से 250 रुपए तक बेच रहे हैं। कोरोनावायरस से बचने के लिए डॉक्टर बार-बार हाथ साफ करने की सलाह दे रहे हैं। इसी कारण हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल काफी बढ़ गया है। आप घर में भी हैंड सैनेटाइजर तैयार कर सकते हैं। हम यहां हैंड सैनेटाइजर जेल और स्प्रे तैयार करने का तरीका बता रहे हैं। जानिए इसकी पूरी प्रॉसेस।

कैसे बनाएं हैंड सैनेटाइजर जेल

इन चीजों की जरूरत होगी

आइसोप्रोपिल एल्कोहल
एलोवेरा जेल
टी ट्री ऑयल

कैसे बनाएं

एक भाग एलोवेरा जेल में तीन भाग आइसोप्रोपिल एल्कोहल मिलाएं। खुशबू के लिए इसमें कुछ बूंदें टी ट्री ऑयल की मिलाएं। इसके बाद जेल इस्तेमाल के लिए तैयार हो जाएगा।

कैसे बनाएं हैंड सैनेटाइजर स्प्रे

इन चीजों की जरूरत होगी

आइसोप्रोपिल एल्कोहल
ग्लिसरोल
हाइड्रोजन पेरोक्साइड
डिस्टिल्ड वॉटर
स्प्रे बॉटल

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

कैसे बनाएं

डेढ़ कप एल्कोहल में दो चम्मच ग्लिसरोल मिलाएं। आप ग्लिसरोल जग ऑनलाइन खरीद सकते हैं। यह बहुत जरूरी चीज है, क्योंकि इसके इस्तेमाल से लिक्विड मिक्स अच्छे से हो जाता है और हाथ एल्कोल और दूसरे लिक्विड से दूर भी रहते हैं।
इसमें एक चम्मच हाइड्रोजन पेरोक्साइड, एक चौथाई डिस्टिल्ड वॉटर मिलाएं।

अब इस सॉल्युशन को स्प्रे बॉटल में भर दें। यह जेल नहीं, स्प्रे है। इसे सुगंधित करने के लिए आप इसमें एसेंशियल ऑयल भी मिला सकते हैं।

क्या सावधानियां जरूरी

■  हैंड सैनेटाइजर तैयार करते वक्त कुछ सावधानियों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। जैसे, जिन चीजों का उपयोग आप इस लिक्विड को मिक्स करने में करें, वह अच्छी तरह से साफ हों।

■  यदि उपयोग में ली जा रही चीजें ही गंदी होंगी तो पूरा लिक्विड ही असरकारक नहीं रह जाएगा। वर्ल्ड हेल्थ ओर्गनाइजेशन के मुताबिक, मिश्रण के बाद लिक्विड को कम से कम 72 घंटे के लिए छोड़ देना चाहिए। इससे यदि मिक्सिंग के दौरान कोई बैक्टीरिया पैदा हुए होते हैं तो मर जाते हैं।

■  सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, सैनेटाइजर को असरकारक बनाना है तो इसमें कम से कम 60 प्रतिशत एल्कोहल होना चाहिए।

■  99 प्रतिशत आइसोप्रोपिल एल्कोहल वाला मिश्रण उपयोग करना सबसे बेहतर होता है। पीने वाली शराब जैसे, वोदका, व्हीसकी आदि इसमें असरकारक नहीं होतीं।

हैंड सैनिटाइजर का उपयोग कैसे करें

How to use hand sanitizer in Hindi

हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करते समय दो बातों का ध्यान रखें कि आपको इसे तब तक अपनी त्वचा में रगड़ना है जब तक कि आपके हाथ सूख न जाएं। और, यदि आपके हाथ चिकने या गंदे हैं, तो आपको हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करने से पहले उन्हें साबुन और पानी से धोना चाहिए।

इसे ध्यान में रखते हुए, यहाँ प्रभावी रूप से हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करने के लिए कुछ टिप्स दिए गए हैं।

■  एक हाथ की हथेली में सैनिटाइजर स्प्रे लें।

■  पूरी तरह से अपने हाथों को एक साथ रगड़ें। सुनिश्चित करें कि आप अपने हाथों और अपनी सभी उंगलियों की पूरी सतह को कवर करते हैं।

■  30 से 60 सेकंड तक या अपने हाथों के सूखने तक रगड़ते रहें। हैंड सेनिटाइज़र को सबसे अधिक कीटाणुओं को मारने में कम से कम 60 सेकंड और कभी-कभी अधिक समय लग सकता है।

सैनिटाइजर कौन से कीटाणु को मार सकते हैं?

What germs can hand sanitizer kill in Hindi?

सीडीसी के अनुसार, अल्कोहल -आधारित हैंड सेनिटाइज़र जो अल्कोहल की मात्रा की आवश्यकता को पूरा करता है, वह आपके हाथों पर रोगाणुओं की संख्या को जल्दी से कम कर सकता है। यह आपके हाथों पर रोग पैदा करने वाले एजेंटों या रोगजनकों की एक विस्तृत श्रृंखला को नष्ट करने में भी मदद कर सकता है, जिसमें नोवल कोरोना वायरस एसएआरएस-सीओवी -2 भी शामिल है।

हालांकि, यहां तक ​​कि सबसे अच्छा अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाइज़र की कुछ सीमाएं हैं और यह सभी प्रकार के कीटाणुओं को खत्म नहीं करते हैं।

सीडीसी के अनुसार, हैंड सैनिटाइज़र को संभावित हानिकारक रसायनों से छुटकारा नहीं मिलेगा। यह निम्न कीटाणुओं को मारने में भी प्रभावी नहीं है:

नोरोवायरस
क्रिप्टोस्पोरिडियम (जो क्रिप्टोस्पोरिडिओसिस का कारण बनता है )
क्लोस्ट्रीडियम डिफिसाइल ( सी. डिफरेंस के रूप में भी जाना जाता है )

इसके अलावा, एक हैंड सैनिटाइज़र अच्छी तरह से काम नहीं कर सकता है यदि आपके हाथ गंदे या चिकने हैं। यह खाना बनाने, यार्ड में काम करने, बागवानी करने या खेल खेलने के बाद हो सकता है।

हमारे यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करने के लिए लाल रंग के लिंक पर क्लिक करें –

https://bit.ly/3dIPAju

यदि आपके हाथ गंदे या चिकने दिखते हैं, तो हैंड सैनिटाइज़र के बजाय हाथ धोने का विकल्प चुनें।

हाथ धोना बनाम हैंड सैनिटाइजर

Hand washing vs. Hand sanitizer in Hindi

यह जानते हुए कि कब अपने हाथों को धोना सबसे अच्छा है, हैंड सैनिटाइज़र इसमें सहायक हो सकते हैं, जो नोवल कोरोना वायरस के साथ-साथ अन्य बीमारियों जैसे सामान्य सर्दी और मौसमी फ्लू से खुद को बचाने के लिए महत्वपूर्ण है।

जबकि हाथ धोना बनाम हैंड सैनिटाइजर दोनों एक ही उद्देश्य की पूर्ति करते हैं, सीडीसी के अनुसार, अपने हाथों को साबुन और पानी से धोना हमेशा प्राथमिकता होनी चाहिए। यदि आपको साबुन और पानी किसी निश्चित स्थिति में उपलब्ध नहीं हैं तो केवल हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें।

इन स्थतियों में हमेशा अपने हाथ धोना भी महत्वपूर्ण है:

■  बाथरूम जाने के बाद
■  अपनी नाक पोंछने के बाद, खाँसना, या छींकना
■  खाने से पहले
■  सतहों को छूने के बाद जो दूषित हो सकती हैं

सीडीसी अपने हाथ धोने के लिए विशिष्ट निर्देशों को सूचीबद्ध करता है यह वही है जो वे बताते हैं:

■  हमेशा साफ, बहते हुए पानी का उपयोग करें। (यह गर्म या ठंडा हो सकता है।)

■  पहले अपने हाथों को गीला करें, फिर पानी को बंद करें, और अपने हाथों को साबुन से साफ करें।

■  कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथों को साबुन से रगड़ें। अपने हाथों के पीछे, अपनी उंगलियों के बीच और अपने नाखूनों के नीचे स्क्रब करना सुनिश्चित करें।

■  पानी चालू करें और अपने हाथों को धोएं। हाथ पोंछने के लिए एक साफ तौलिया का उपयोग करें।

निष्कर्ष 

साबुन और पानी उपलब्ध नहीं होने पर कीटाणुओं को फैलने से रोकने में मदद के लिए हैंड सैनिटाइज़र एक आसान तरीका है। अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइज़र आपको सुरक्षित रखने में मदद कर सकते हैं और उपन्यास कोरोना वायरस के प्रसार को कम कर सकते हैं।

यदि आपको अपने स्थानीय स्टोर पर हैंड सैनिटाइज़र मिलने में कठिनाई हो रही है, तो आप अपना खुद का हैंड सैनिटाइज़र बनाने के लिए ऊपर बताये गए स्टेप्स को फोलो कर सकते हैं। आपको केवल कुछ सामग्री की आवश्यकता होती है, जैसे कि अल्कोहल, एलोवेरा जेल और एक आवश्यक तेल या नींबू का रस।

हालाकिं, हैंड सैनिटाइज़र रोगाणु से छुटकारा पाने का एक प्रभावी तरीका हो सकता है, फिर भी स्वास्थ्य अधिकारी आपके हाथों को रोग पैदा करने वाले वायरस और अन्य कीटाणुओं से मुक्त रखने के लिए जब भी संभव हो, पानी और साबुन से हाथ धोने की सलाह देते हैं।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleसुबह खाली पेट चिया बीज इस तरह मोटापा सहित 12 भयंकर रोग ख़त्म / 9 किलो तक वजन कर कर देगा
Next articleवायरस से लड़ने के लिए बढ़ाएं प्रतिरोधक क्षमता

Leave a Reply