dhania

भारतीय रसोई में धनिया पाउडर का इस्तेमाल खाने में स्वाद और खूशबू बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसके बिना खाने का स्वाद अधूरा रहता है लेकिन क्या आप जानते है सूखा धनिया सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। फाइबर, कैल्शियम और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर धनिया पाउडर की तासिर ठंडी होने के कारण यह पेट इंफेक्शन, एसिडिटी और शरीर की जलन जैसी समस्याओं को दूर करती है। इसके अलावा भी इसका सेवन बवासीर, यूरिन इंफेक्शन, ब्लड शुगर और पेट की जलन को दूर करता है। इसी कारण इसे यूरोप के कई देशों में एंटी डायबीटिक पौधे के रूप में भी जाना जाता है। तो आइए जानते है भारतीय मसाले के रूप में इस्तेमाल होने वाले धनिया पाउडर के चमत्कारी गुणों के बारे में।

इसे भी पढ़ें : हार्ट ब्लॉकेज खोलने का उपाय

वजन कम करने में

धनिए के बीज वजन कम करने के लिए उपयोगी होते हैं। गर्म पानी में उबाल कर इनकी चाय बना कर लगातार कुछ दिन पीने से वजन कम होता है।

सर्दी जुकाम के लिए

धनिये के बीज जुकाम और फ्लू से बचाव के लिए भी मदद करता है. विटामिन सी एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो एक स्वस्थ शरीर और त्वचा के लिए आवश्यक है. धनिये में कई आवश्यक विटामिन होते हैं.

इसे भी पढ़ें : रोज़ सुबह 10 दिन धनिया का पानी पीने से क्या हो गया देखकर अचंभित रह जाओगे

एंटीबैक्टीरियल गुण

कई भोजन और जल से उत्पन्न रोग जैसे हैजा, टाइफाइड, फ़ूड पोइज़निंग, पेचिश आदि बैक्टीरिया (साल्मोनेला) के कारण होते हैं. धनिये का नियमित सेवन अपने जीवाणुरोधी गुणों के कारण खाने-पीने से होने वाले रोगों से बचाता है. आप धनिया अपने भोजन या अतिरिक्त स्वाद के लिए सलाद में इस्तेमाल कर सकते हैं.

खून की कमी से 

धनिए के बीज में पर्याप्त मात्रा में आयरन होता है जो कि खून में हिमोग्लोबिन को बनाता है। यहीं कारण है कि धनिए के बीज का सेवन करने से खून की कमी दूर होती है।

इसे भी पढ़ें : उकड़ू बैठ करोगे ये 3 काम तो होंगे कई चौकाने वाले फायदें

त्वचा के लिए

धनिया विभिन्न त्वचा रोगों के इलाज करने में काफी प्रभावी है. इससे मुंह के अल्सर और घावों का इलाज भी होता है. धनिया के बीज और पानी को उबाल लें. इस पानी से मुंह के अल्सर को कम करने और ठीक करने के लिए उपयोग करें. इसके अलावा धनिया के बीज, पानी और एक चम्मच शहद को पीसकर एक पेस्ट बनाएं. खुजली वाली त्वचा पर इस पेस्ट को लगाएं और लगभग 10 मिनट के बाद धो लें.

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

शुगर के उपचार में

रातभर के लिए एक मुट्ठी धनिया की भिगोएं. अगली सुबह, पानी को छाने और इसका सेवन करें. मधुमेह और कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित लोग दैनिक रूप से इस धनिया पानी का सेवन करना चाहिए. यह ब्लड ग्लूकोज को कम करके स्वस्थ रक्त शर्करा के स्तर को भी कम रखने में मदद मिलती है. इससे खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम हो जाती है और रक्त में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है.

इसे भी पढ़ें : पेट साफ नही होता तो आपको कब्ज है, इससे निजात पाने के लिए आजमाएँ सबसे आसान घरेलू उपाय

पिंपल्स के उपचार के लिए

धनिया बीज एक्ने को कम करने में बहुत मददगार साबित हो सकते हैं. इसके लिए आप घरेलू फेस मास्क तैयार कर सकते हैं. इसके लिए आपको धनिया के बीज, एक चम्मच शहद, एक चुटकी हल्दी, मुल्तानी मिट्टी (वैकल्पिक) की जरूरत होगी. धनिया पेस्ट, शहद और हल्दी के साथ एक फेस मास्क तैयार करें. धनिया बीज के जीवाणुरोधी गुण एक्ने और ब्लैकहैड्स का मुकाबला करने के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं.

बालों के लिए

बालों के झड़ने की वजह कमजोर हेयर फॉलिकल्स, हार्मोनल असंतुलन, तनाव, साथ ही अनुचित आहार हो सकता है. धनिया के बीज का उपयोग करके आप बालों को गिरने से बचा सकते हैं. अपने बालों के तेल में कुछ धनिया पाउडर मिलाएं और सप्ताह में कम से कम दो बार अपने सिर की मालिश करने के लिए इसका इस्तेमाल करें.

इसे भी पढ़ें : लहसुन, हल्दी और लौंग का मिश्रण 7 रोगों में रामबाण

कंजंक्टिवाइटिस के उपचार में

यदि आप कंजंक्टिवाइटिस से पीड़ित है, तो जितनी बार आप कर सकते हैं, उतनी बार काढ़े के साथ प्रभावित आंख को धोने की कोशिश करें. इसमें मौजूद उच्च एंटीऑक्सीडेंट सामग्री आंखों में लाली, खुजली और सूजन को कम करने में सहायक है.

धनिये के बीज के नुकसान

कुछ लोगों को इसके उपयोग से चक्कर, साँस लेने में कठिनाई, खुजली, चक्कर आना जैसी एलर्जी हो सकती हैं.

धनिये के बीज का अत्यधिक और लंबे समय तक उपयोग लिवर की समस्याएं पैदा कर सकता है.

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सीमित मात्रा में धनिया के बीज का उपयोग करना चाहिए.

कभी-कभी, धनिये के बीज का उपयोग से सनबर्न और त्वचा कैंसर का खतरा बढ़ सकता है.

इसे भी पढ़ें : थायराइड की वजह से बढ़ते वजन का घरेलू उपाय
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleकिन लोगों के लिए तरबूज खाना वरदान है ,किनके लिए नुकसान वाला,what is watermelon good for health wise
Next articleहड्डियों में दर्द कब्ज लिवर ख़राब, आँखों की रौशनी,खून की कमी को दूर करती है ये 1 चीज
Loading...

Leave a Reply