coronavirus

कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर में हुई मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। लाखों की संख्या में मरीज इस वायरस की वजह से संक्रमित हैं। दुनियाभर में इस बीमारी को लेकर अलर्ट जारी है। ऐसे में बीमारी के लक्षण, इलाज और बचाव के बारे में हम आपको दे रहे हैं पूरी डीटेल जानकारी।

दुनियाभर में अब तक कोरोना के 88 हजार कंफर्म्ड केस सामने आ चुके हैं और 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ ये कोरोना वायरस अब दुनियाभर के लिए गंभीर खतरा बन चुका है। कोरोना के बढ़ते खौफ को देखते हुए भारत में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। अलग-अलग देशों से आने वाले विमान यात्रियों की सख्ती से जांच भी की जा रही है। इन सबके बीच आखिर क्या है कोरोना वायरस, इसके लक्षण, इलाज और बचाव के बारे में यहां जानें सबकुछ…

क्या है कोरोना वायरस?

कोरोना वायरस विषाणुओं का एक बड़ा समूह है, जो इंसानों में सामान्य जुकाम से लेकर श्वसन तंत्र की गंभीर समस्या तक पैदा कर सकता है। इसके अलावा कोरोना वायरस से SARS और MERS जैसी जानलेवा बीमारियां भी हो सकती हैं। इस वायरस का नाम इसके शेप के आधार पर रखा गया है। ये वायरस जानवरों और इंसान दोनों को एक साथ संक्रमित कर सकता है। शोध में सामने आया है कि यह कोरोना वायरस सांपों से इंसान तक पहुंचा है। यह वायरस ऐनिमल्स से संबंधित है और मीट के होल सेल मार्केट, पोल्ट्री फर्म, सांप, चमगादड़ या फर्म एनिमल्स के जरिए ह्यूमन में आया है।

कितना खतरनाक है ये वायरस?

दुनियाभर के स्वास्थ्य अधिकारी इस वायरस को लेकर सतर्क हैं और लोगों को भी सतर्कता बरतने की सलाह दे रहे हैं लेकिन यह वायरस कितना खतरनाक है इसके बारे में सटीक जानकारी अब तक नहीं मिल पायी है।

कोरोना वायरस इंफेक्शन के लक्षण क्या हैं?

कोरोना वायरस की वजह से रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट यानी श्वसन तंत्र में हल्का इंफेक्शन हो जाता है जैसा कि आमतौर पर कॉमन कोल्ड यानी सर्दी-जुकाम में देखने को मिलता है। हालांकि इस बीमारी के लक्षण बेहद कॉमन हैं और कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से पीड़ित न हो तब भी उसमें ऐसे लक्षण दिख सकते हैं। जैसे-

नाक बहना
सिर में तेज दर्द
खांसी और कफ
गला खराब
बुखार
थकान और उल्टी महसूस होना
सांस लेने में तकलीफ आदि
निमोनिया
ब्रॉन्काइटिस

कोरोना वायरस को फैलने से कैसे रोकें?

इस जानलेवा कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने की जरूरत है। WHO ने कुछ गाइडलाइंस भी दिए हैं ताकि इस जानलेवा बीमारी को फैलने से रोका जा सके-

– बीमार मरीजों की सही तरीके से मॉनिटरिंग की जाए

– रेस्पिरेटरी यानी सांस से जुड़ी बीमारी के लक्षण किसी में दिखें तो उससे दूर ही रहें

– जिन देशों या जगहों पर इस बीमारी का प्रकोप फैला है वहां यात्रा करने से बचें

– हाथों को अच्छी तरह से धोएं और हाथों की सफाई का पूरा ध्यान रखें

– खांसी या छींकते वक्त अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढंककर रखें

– अपने हाथ और उंगलियों से आंख, नाक और मुंह को बार-बार न छूएं

– पब्लिक प्लेस, पब्लिक ट्रांसपोर्ट में कुछ भी छूने या किसी से हाथ मिलाने से बचें

क्या कोरोना वायरस से मौत हो सकती है?

वैसे तो कोरोना वायरस की शुरुआत सामान्य सर्दी-जुकाम या निमोनिया जैसी होती है लेकिन अगर केस गंभीर हो जाए तो इस इंफेक्शन की वजह से सीवियर अक्यूट रेस्पिरेटरी सिन्ड्रोम, किडनी फेलियर या मल्टीपल ऑर्गन फेलियर तक हो सकता है जिस वजह से मौत हो सकती है।

एक बात का हमेशा ध्‍यान दें कि अगर आप या फिर आपके घर में कोई लंबे समय से बीमार है तो उसे तुरंत ही डॉक्‍टर के पास ले कर जाएं। इस बीमारी में जरा सी भी लापरवाही इंसान को मौत के करीब ला सकती है। अपने बच्‍चों को भी स्‍कूल भेजते वक्‍त हमेशा मुंह पर मास्‍क पहनाएं।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleगेहूं के जवारे के फायदे और नुकसान- Gehun Ke Jaware ke Fayde Or Nuksan in Hindi
Next articleगिलोय के फायदे ,लाभ और औषधीय गुण – Giloy Ke Fayde In Hindi

Leave a Reply