causes-of-low-blood-pressure

हमारे दिल से सारे शरीर को साफ खून की सप्लाई लगातार होती रहती है। अलग-अलग अंगों को होने वाली यह सप्लाई आर्टरीज के जरिए होती है। ब्लड को प्रेशर से सारे शरीर तक पहुंचाने के लिए दिल लगातार सिकुड़ता और वापस नॉर्मल होता रहता है – एक मिनट में आमतौर पर 60 से 70 बार। जब दिल सिकुड़ता है तो खून अधिकतम दबाव के साथ आर्टरीज में जाता है। इसे सिस्टोलिक प्रेशर कहते हैं। ब्लड प्रेशर दिन भर एक-सा नहीं रहता। जब हम सोकर उठते हैं तो ज्यादातर यह कम होता है। जब हम शारीरिक मेहनत करते है जैसे तेज चलना, दौड़ना या टेंशन, तो यह बढ़ जाता है।

■    20 साल पुरानी ब्लड प्रेशर की बीमारी को भी ठीक कर देगा ये घरेलू उपाय

सामान्य बीपी 120/80 होना चाहिए। थोड़ा-बहुत ऊपर-नीचे होने से खास फर्क नहीं पड़ता, लेकिन अगर ऊपर का 90 से कम हो जाए तो उसे लो बीपी, निम्न रक्तचाप या हाइपोटेंशन कहते हैं। लो बीपी या हाइपोटेंशन को आमतौर पर लोग गंभीरता से नहीं लेते। और इसे लेकर तमाम गलतफहमियां भी हैं। सही तरीके से इलाज न होने पर लो बीपी कई समस्याओं की वजह बन सकता है। इस लिए इसे अनदेखा न करे कोई भी लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से मिले।

low blood pressure

पोषण की कमी

हमे हर प्रकार के पोषक तत्वों की जरूरत पढ़ती है हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए। पोषक तत्वों की छोटी सी कमी से हमे लो ब्लड प्रेशर हो सकता है जो चल कर एक गंभीर समस्या का रूप ले सकती है।

malnutrition-in-the-body

ऑर्गन इन्फ्लामेशन

ऑर्गन इन्फ्लामेशन यानी शरीर के अंदर के अंगो में सूजन। शरीर के अंदर में सूजन आ जाने से भी लो ब्लड प्रेशर होता है।

■   ब्लड प्रेशर की अद्भुत दवा है ये, एक बार इस्तेमाल करे और फिर देखे कमाल

गर्भावस्था

अगर आप प्रेग्नेंट है तो हो सकता है की आपका बीपी नीचे चला जाए। हालांकि प्रेगनेंसी के दौरान लो ब्लड प्रेशर हो जाता है। लेकिन आप अपनी जांच करवाती रहे जिससे आगे यह समस्या न हो।

banana for pregnant ladies

वीक हार्ट मसल्स

अगर आपके हृदय की मांसपेशियां  कमज़ोर है तो आप लो ब्लड प्रेशर के शिकार हो सकते है। हृदय की मांस पेशियों के कमज़ोर होने से रक्त में भी कमी आएगी और आपको दिल का दौरा भी पड़ सकता है।

heart

■    अनुलोम-विलोम प्राणायाम करने से जीवन मे कभी नही होगा हार्ट ब्लॉकेज, गठिया, जोड़ो का दर्द, कैंसर, एलर्जी, ब्लडप्रेशर आदि 100 रोग, जरूर अपनाएँ

असामान्य रूप से दिल की धड़कन में तेज़ी

यदि आपके हृदय की गति तेज़ हो जाती है तो हृदय के वेंट्रिकलस भी असामान्य तरीके से काम करने लगते है। इससे वेंट्रिकलस में रक्त पूरी तरीके से भर नहीं पता है और उससे पहले ही ब्लड पंप हो जाता है। जिससे आपके शरीर में खून की कमी हो जाती है।

abnormal-heart-rate

एन्डोक्राइन

एन्डोक्राइन परेशानियाँ जैसे हाइपथाइरॉइडिज़म, पैराथाइरॉइड, एड्रेनल इन्सफिशन्सी, लो ब्लड शुगर और डायबिटीज जैसी बीमारियाँ लो ब्लड प्रेशर का कारण बनती है। यह सारी बीमारियाँ हॉर्मोन प्रडूससिंग एन्डोक्राइन के ख़राब होने से होती है।

हार्ट ब्लॉक

अथेरोस्क्लेरोसिस की वजह से हार्ट में ब्लॉकेज हो सकता है जिस की वजह से आपको हार्ट अटैक हो सकता है। हार्ट ब्लाक होने से स्पेशल टिशूज से इलेक्ट्रिकल करंट हार्ट तक नहीं पहुच पता है। जिस की वजह से आपका हार्ट ठीक से काम नहीं कर पता है।

heart block treatment in hindi

■   चाहे कैसा भी हार्ट ब्लॉकेज क्यों ना हो शरीर की ब्लॉकेज को निकाल फेंकेगा राजीव दीक्षित जी का यह उपाय

डिहाइड्रेशन

डिहाइड्रेशन यानी निर्जलीकरण ये समस्या आम तौर पर हमे रोज़ देखने को मिलती है। डिहाइड्रेशन होने के के पीछे के कारण है कि लंबे समय तक मतली, उल्टी या दस्त का होना। और सबसे मुख्य कारण है शरीर में पानी की कमी होना।

Dehydration ka ilaj Dehydration treatment remedy in hindi

गंभीर संक्रमण

सेप्टिक शॉक या गंभीर संक्रमण की वजह से लो ब्लड प्रेशर हो सकता है। ये तब होता है जब बैक्टीरिया फेफड़े या पेट से खून में प्रवेश कर जाते है। और रक्त वाहिकाओं को प्रभावित करते है।

infection

ब्लीडिंग

बहुत ज्यादा खून का शरीर से बहना लो ब्लड प्रेशर का कारण हो सकता है। यह खून का बहना किसी दुर्घटना ऑपरेशन या किसी अन्य कारण की वजह से हो सकता है।

nose-bleeding

■  हाई बीपी हो या लो बीपी 10 मिनट में बिलकुल ठीक करेगी यह दवा
Loading...

Leave a Reply