cancer-cells

कैंसर एक जानलेवा और खतरनाक बीमारी है। सेल्‍स के अनियंत्रित वृद्धि के कारण कैंसर होता हैं। लेकिन कुछ हर्ब्‍स कैंसर को रोकने में मददगार साबित हो सकते है।

■   इन तीनो को एक साथ लेने से क़ब्ज़ ऐसी जड़ से ख़त्म होगी की बैठते ही पूरा पेट साफ़

कैंसर के लिए जड़ी बूटियां

यह बात को शायद हम सभी जानते हैं कि हर्ब्‍स की चुटकी डालने मात्र से ही साधारण पकवान भी जादूई हो जाता है। लेकिन हम इस बात से अनजान हैं कि यह हर्ब्‍स कैंसर को रोकने में भी मददगार होते है। वैज्ञानिकों ने पाया कि बहुत से खाद्य पदार्थों में मौजूद जड़ी बूटियों और मसालों में फाइटो‍केमिकल्‍स होते हैं, जो हमारे शरीर को जैविक रूप से प्रभावित करता है। यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को सही रखने में मदद करते हैं और इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स कैंसर को दूर करने में मदद करते हैं। यहां पर ऐसे ही हर्ब्‍स के बारे में जानकारी दी गई है।

आंवला

आंवला में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होता है। जो कार्सिनोजेनिक कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते हैं और कैंसर से बचाव करते हैं। आंवला विटामिन सी का बहुत अच्‍छा स्रोत है। एक आंवले में लगभग 3 संतरों के बराबर विटामिन सी होता है। आंवला खाने से लीवर को शक्ति मिलती है जिससे लीवर शरीर से टॉक्सिन्‍स को बाहर निकालता है।

■   सिर्फ 21 दिन लगातार रात में 1 चम्मच आंवला चूर्ण खाने के बाद शरीर में जो हुआ वो आप खुद ही देख लीजिये

हल्‍दी

सदियों से हल्‍दी भारतीय मसालों का अभिन्‍न अंग रहा है। हल्दी का उपयोग विभिन्न रोगों के उपचार में प्राचीन काल से ही किया जाता रहा है। हल्दी को बहुत अच्छा रोगाणुनाशक माना जाता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि प्रतिदिन हल्दी का सेवन करने से कैंसर जैसे असाध्य रोगों को भी दूर भगाया जा सकता है। हल्दी में कैंसररोधी गुण होते हैं और यह शरीर को कैंसर से बचाती है। शोधकर्ताओं के अनुसार, हल्दी में पाया जाने वाला कुर्कुमिन नामक तत्‍व कैंसर को समाप्त करने में मदद करता है।

एलोवेरा

एलोवेरा के पौधे में वो सारे गुण समाहित है जिससे इसे आप संजीवनी बूटी कह सकते है। एलोवेरा में अमिनो एसिड और 12 तरह के विटामिन मौजूद होते हैं, जो खून की कमी को दूर कर रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढाते हैं। कब्ज से लेकर कैंसर तक के मरीजों के लिए एक अत्यंत लाभकारी औषधि है। एलोवेरा बढि़या एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक के रूप में काम करता है। एलोवेरा एक ऐसा पौधा है जिसमें अन्य सभी जड़ी-बूटियों के मुकाबले अधिक गुण होती है। यानी व्यक्ति को फिट रखने में एलोवेरा महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं।

■   एलोवेरा का ऐसे करे उपयोग हमेशा के लिए जड़ से ख़त्म हो जाएँगे ये 30 रोग 

लहसुन

कैंसर को एक लाइलाज बीमारी माना जाता है। लेकिन आयुर्वेद के अनुसार रोजाना थोड़ी मात्रा में लहसुन का सेवन करने से कैंसर होने की संभावना लगभग 80 प्रतिशत कम हो जाती है। कैंसर के प्रति शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। लहसुन में मौजूद कैंसर विरोधी तत्व शरीर में कैंसर बढऩे से रोकते है। लहसुन में मौजूद अलिसिन नामक रसायन फेफड़ों के कैंसर से बचाव में मददगार है।

ग्रीन टी

ग्रीन टी के नियमित सेवन से न सिर्फ वजन नियंत्रित होता है, बल्कि उनमें कई तरह की बीमारियों के होने की संभावना भी कम हो जाती है। इसके सेवन से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से भी बचा जा सकता है। कई रोगों के प्रति शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाती है। ग्रीन टी एंटी-एजिंग के साथ-साथ एंटी-ऑक्सीडेंट का काम भी करती है।

■   वजन घटाने से लेकर खूबसूरती बढ़ाने तक, ग्रीन टी के कई हैं फायदें

काली मिर्च

हाल ही में कैंसर पर हुए शोध से यह बात सामने आई कि महिलाओं के लिए कालीमिर्च का सेवन बहुत लाभकारी होता है। काली मिर्च में विटामिन सी, विटामिन ए, फ्लैवोनॉयड्स, कारोटेन्स और अन्य एंटी-ऑक्सीडेंट आदि जैसे तत्व पाए जाते है। जो कैंसर को दूर करने में आपकी मदद करते हैं। कालीमिर्च ब्रेस्ट कैंसर को रोकने के साथ-साथ त्‍वचा के कैंसर से शरीर की रक्षा करता है।

गिलोय

गिलोय एक बहुत ही उपयोगी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। इसकी पत्तियों में कैल्शियम, प्रोटीन, फॉस्फोरस और तने में स्टार्च पाया जाता है। वायरस की दुश्मन गिलोय रोग संक्रमण रोकने में सक्षम होती है। यह एक श्रेष्ठ एंटीबयोटिक है। गिलोय की जड़ों में मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट कैंसर की रोकथाम और उपचार में प्रयोग किया जाता है।

■   गिलोय कर सकता है आपके शरीर की बड़ी-बड़ी बीमारियों को पल-भर में दूर, जानें कैसे!!

अदरक

कैंसर के लिए अदरक बहुत फायदेमंद है। यह कैंसर के मरीजों के लिए अचूक औषधि की तरह काम करता है। अदरक कोलेस्ट्राल का स्तर कम करता है। यह खून का थक्का जमने से रोकता है, इसमें एंटी फंगल और कैंसर के प्रति प्रतिरोधी होने के गुण भी पाए जाते हैं।

गेहूं का ज्‍वारा (व्हीटग्रास)

गेहूं के ज्वारे में सुपाच्य, पौष्टिक और संपूर्ण आहार है। इसमें भरपूर क्लोरोफिल, एंजाइम, अमिनो एसिड, शर्करा, वसा, विटामिन और खनिज होते हैं। कैंसर जैसे घातक रोगों पर विजय पाने में गेहूं के ज्‍वारे का रस बहुत फायदेमंद होता है। यह कैंसर युक्त सेल्‍स को कम करने में भी सहायता करता हैं। साथ ही यह शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर शारीरिक क्षमता को बढ़ाता है। और शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है।

लाल शिमला मिर्च

लाल शिमला मिर्च कैंसर को रोकने में मदद करता है। इसमें मौजूद कैप्‍सासिन तत्‍व की मौजूदगी के कारण लाल शिमला मिर्च शरीर, फेफड़े और अग्न्याशय में मौजूद कैंसर कोशिकाओं को मारता है। इस के अलावा लाल मिर्च में मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट कैंसररोधी कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है।

■   सूखा नारियल के यह 8 फायदे आपको हैरान कर देंगे, ये कैंसर से लगाकर गठिया, ह्रदय, कोलेस्ट्रॉल और हड्डियों को फ़ौलाद बनाने तक चमत्कारी है
Loading...

1 COMMENT

Leave a Reply