यह बात तो सभी जानते हैं कि जल ही जीवन हैं। जिस तरह खाना शरीर के लिए ज़रूरी होता है उसी तरह जल भी शरीर के लिए उतना ही ज़रूरी होता है। दिन में सात से आठ ग्लास पानी पीना स्वास्थ्य के दृष्टि से शरीर के लिए बहुत ज़रूरी होता है। खाने के पहले पानी पीना, खाने के बाद पानी पीना और दिन में किसी भी समय पानी पीने का अलग-अलग प्रभाव शरीर पर पड़ता है। पानी त्वचा, पेट, शरीर पर आक्रमित होने वाले कई बीमारियों से बचाने  में मदद करता है।
हमारे शरीर के सत्तर प्रतिशत भाग में जल होता है, इसलिए जल शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। यह दर्दनिवारक के रूप में काम करने के साथ-साथ, दमा और कैंसर रोग के संभावना को कम करने में भी मदद करता है। इन बातों से आप समझ ही सकते हैं कि जल शरीर के लिए कितना ज़रूरी होता है। लेकिन सुबह खाली पेट जल पीने का अलग ही प्रभाव शरीर पर पड़ता है, जो अनगिनत है। लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि पानी थोड़ा गुनगुना गर्म होना चाहिए। पानी पीने के पैंतालिस मिनट से एक घंटा बाद ही कुछ खाना या पीना चाहिए। हजारों साल से पेट और त्वचा संबंधी समस्याओं से राहत पाने के लिए औषधि के रूप में जल का प्रयोग किया जाता रहा है।

glass

खुद को निरोग रखने के आसान और सरल उपायों में यह एक उपाय है-सुबह जल्दी उठकर बिना कुछ खाये पानी पीना क्योंकि:
• जल शरीर के आंतरिक प्रणाली (internal system) को स्वच्छ करने में मदद करता है।
• जल मलाशय (colon) के दूषित पदार्थों को निकाल कर खाद्द पदार्थ से पोषक तत्वों को सोखने में मदद करता है।
सुबह जल पीने से नई रक्त कोशिकाएं बनती है जिससे शरीर किसी भी बीमारी से लड़ने में सक्षम हो पाता है।

पानी पीने की विधि:

• सुबह उठकर सबसे पहले ब्रश करें फिर चार गिलास पानी पीयें
• पानी पीने के पहले कुछ भी न खायें न ही पीयें।
• पानी पीने के 45 मिनट के बाद ही नाश्ता करें या चाय पीयें।
• नाश्ता करने के दो घंटा बाद ही खाना खायें।
• अगर एक ही बार चार गिलास पानी पीना मुश्किल लगे तो धीरे-धीरे पीने की कोशिश करनी चाहिए।

सुबह खाली पेट पानी पीने से शरीर को कई प्रकार से लाभ मिलता है:

त्वचा में निखार आता है:

जल रक्त से दूषित पदार्थों को निकालने में मदद करता है जिसके कारण त्वचा में निखार आ जाता है।

नई कोशिकायें बनती हैं

सुबह खाली पेट पानी पीने से नई रक्त कोशिकायें बनने के साथ-साथ नई मांसपेशियाँ भी बनती है।

लसीका प्रणाली को संतुलित करता है

सुबह पानी पीने से लसीका प्रणाली (lymph system) संतुलित रहता है। क्योंकि लसीका प्रणाली में जो लसीका ग्रंथि होता है वह बाहरी संक्रमण से लड़ता है ताकि आप रोजर्मरा के काम बिना किसी रूकावट के कर सके। यह शरीर में फ्लूइड को भी संतुलित रखने में मदद करता है।

वज़न घटाने में मदद करता है

जब आप सुबह पानी पीते है तब आपके शरीर के चयापचय (metabolism) का दर बढ़ जाता है जो वज़न घटाने के प्रक्रिया के लिए लाभादायक सिद्ध होता है।

बीमारियों को दूर करने में मदद करता है

सुबह जल्दी उठकर पानी पीने से शरीर के ऊपर कई प्रकार की बीमारियाँ अपना प्रकोप नहीं दिखा पाती है, जैसे- कैंसर, टीबी, नेत्र, मूत्र, गुर्दे की बीमारी, गले का रोग, उल्टी, सिर दर्द आदि रोगों से कुछ हद तक राहत मिलने में सहायता करता है।

टिप:

सुबह जल पीने के भी कुछ नियम है जैसे पिछले रात को शराब न पीयें। एक साथ चार गिलास पानी पीने की कोशिश कीजिए। पहले दिन ही यह नहीं होगा धीरे-धीरे इसकी आदत डालनी पड़ेगी। एक बात का ध्यान रखें कभी भी खड़े होकर पानी न पीयें इससे पेट में गैस हो सकता है या वात की समस्या भी हो सकती है। पानी हमेशा धीरे-धीरे पीना चाहिए क्योंकि इससे मुँह का लार पानी में मिल जाता है जो खाना को हजम करवाने में मदद करता है।

Loading...

Leave a Reply