एलर्जी का इलाज इन हिंदी

प्रदूषण और खाने पिने की चीजों में मिलावट के कारण स्किन, सांस और नाक की एलर्जी जैसी परेशानियां बढ़ रही है। आजकल प्रदूषण की वजह से हवा में कई तरह के जहरीले कण मौजूद होते है जो साँस लेते वक़्त फेफड़ों तक पहुँच जाते है जिससे इंफेक्शन और एलर्जी जैसी समस्याएं होने लगती है जैसे फेफड़ो में सूजन, नाक और गले की बीमारियां होना। अस्थमा जैसे रोग होने का सबसे बड़ा कारण भी यही है। एलर्जी से चर्म रोग भी होता है, जिसमें तेज खारिश होने लगती है और त्वचा लाल हो जाती है। कुछ घरेलू उपाय कर आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाकर एलर्जी का उपचार कर सकते है, natural home remedies tips for allergy tretment in hindi.

■  अपने टूटे हुए बालों को मत फेंकिये क्योंकि इसके फ़ायदे जान दंग रह जाएँगे आप

अगर आप को त्वचा, सांस और नाक में से कोई भी परेशानी बार बार हो तो इसके कारण पता करना ज़रूरी है, इसलिए आप सबसे पहले ये जाने की किन किन चीजों से आपको एलर्जी है, जिसके लिए आप को अपनी दिनचर्या और खाने पिने की आदतों पर ध्यान देना होगा। इसके इलावा एलर्जी का परीक्षण करवाने से भी कारण जान सकते है। टेस्ट के लिए डॉक्टर से मिलकर सलाह ले।

एलर्जी के कारण क्या है : Causes

एलर्जी कई तरह की होती है इसलिए इसके कई कारण हो सकते है, जिनमें से कुछ यहाँ लिखे है।

  • हवा में प्रदूषण
  • धूल मिट्टी के कण
  • मौसम में बदलाव आने से
  • लकड़ी, फल और अनाज की धूल
  • मधुमक्खी के काटने से त्वचा पर सूजन आना।
  • जानवरों को छूने से भी कुछ लोगो को एलर्जी होती है।
  • कुछ दवाओं से भी एलर्जी हो जाती है, जैसे खाली पेट एंटीबायोटिक और दर्द निवारक मेडिसिन लेने से एलर्जी के लक्षण दिखने लगते है।
■  बाबा रामदेव के इन उपायों से बवासीर हो जाएगी जड़ से ख़त्म..!!

एलर्जी के लक्षण : Allergy Symptoms

◘  एलर्जी के लक्षणों में नाक में सूजन, सर्दी जुकाम, तेज खारिश और बुखार जैसी समस्याएं होने लगती है। सर्दियों में नाक का बार बार बहना भी एलर्जी के कारण होता है।

◘  आँख में पानी आना, जलन होना, खुजली होना या लाली आना आँखों की एलर्जी में होता है। .

◘  साँस लेने में तकलीफ़, खाँसी आना और दमा होना गले की एलर्जी के लक्षण है।

◘  बारिशों में त्वचा की एलर्जी की आशंका बढ़ जाती है, स्किन की एलर्जी होने पर दाने निकलना, खुजली होना और पित होना आम लक्षण है।

◘  नाक का बंद होना या फिर तेज बहना, नाक में लगातार छींके आना, खुजली होना या बार बार नजला जुकाम लगना नाक की एलर्जी के लक्षण है।

◘  ऐसे भी कुछ लोग है जिनको खाने पीने की चीजों से एलर्जी होती है। कुछ बड़े और बच्चे ऐसे भी है जिन्हें अनाज से एलर्जी की समस्या होती है जिस वजह से वे गेंहू की रोटी नहीं खा पाते। अनाज की तरह खाने पिने की कुछ और चीजें भी है जिनसे एलर्जी होने लगती है जैसे दूध, अंडा, मछली. अगर एलर्जी के कारण तकलीफ काफ़ी बढ़ जाये तो तुरंत डॉक्टर से मिले।

■  हारसिंगार को छूने मात्र से मिट जाते है अनेक रोग

एलर्जी का इलाज के घरेलू उपाय

Home Remedies for Allergy in Hindi

अंग्रेजी दवायें एलर्जी के लक्षणों को कम करती है पर एलर्जी का इलाज जड़ से नहीं करती पर सही तरीके से घरेलू और आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाकर एलर्जी को जड़ से खत्म तक किया जा सकता है। अगर आप स्किन, गले, नाक या कोई और एलर्जी से परेशान है और बार बार डॉक्टर के चक्कर लगा कर थक गये है तो आप यहाँ लिखे घरेलू तरीके से उपचार करे।

1. एक अंजीर और एक छुहारा रात को दूध में उबालकर खाए।

2. 100 ml खीरे का जूस, 100 ml चुकंदर का जूस और 300 ml गाजर का जूस मिलाकर पीने से भी फायदा मिलता है।

3. चार पत्ते तुलसी, अदरक, मिश्री, लौंग और काली मिर्च मिलाकर बनाई हुई हर्बल चाय पिने से एलर्जी में आराम मिलता है।

4. चार से पांच बूंदे कैस्टर आयल फलों या सब्जी के जूस में मिलाकर सुबह खाली पेट ले, जूस के इलावा आप पानी का इस्तेमाल भी कर सकते है। इस नुस्खे से स्किन और नाक की एलर्जी से आराम मिलेगा।

5. सुबह सुबह गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाकर पिने से शरीर को विटामिन सी मिलता है जो नजला और जुखाम से छुटकारा पाने में मदद करता है। एक चम्मच शहद और आधा नींबू का रस हलके गरम पानी में मिलाकर सेवन करने से भी एलर्जी ठीक होती है।

■  लकवा,पुरानी खांसी,बवासीर,सफेद बाल,सफेद दाग इन सभी को जड़ से ख़त्म कर देगा यह आयुर्वेदिक नुस्खा..!!

एलर्जी का आयुर्वेदिक उपचार के तरीके

1. सर्दियो में च्यवनप्राश खाने से नाक और साँस की एलर्जी दूर होती है।

2. एलर्जी की दवा के लिए हल्दी से बनी हरिद्रा खंड, इस आयुर्वेदिक दवा से स्किन की एलर्जी का उपचार करने में फायदा मिलता है।

3. एक ग्राम गिलोय पाउडर और 1 ग्राम सितोपलादि पाउडर दिन में दो बार खाली पेट सेवन करने से नाक और साँस की एलर्जी से निजात मिलती है।

4. स्किन की एलर्जी से राहत पाने के लिए थोड़ा निम्बू का रस नारियल के तेल में मिलाकर रात को लगाए और अगले दिन सुबह नीम के पानी इसे धो ले।

5. जिन लोगों को नाक की एलर्जी बार बार होती है उन्हे सुबह खाली पेट दो चम्मच आंवले का रस, एक चम्मच शहद और एक चम्मच गिलोय रस में मिलाकर कुछ दिन निरंतर लेना चाहिए।

आयुर्वेदिक मेडिसिन आप बाबा रामदेव पतंजलि स्टोर या पंसारी से ले सकते है। इन दवाओं के इस्तेमाल से पहले आप आयुर्वेद वैद से सलाह ज़रूर ले। कपालभाती प्राणायाम योगा हर रोज करने से भी एलर्जी से आराम मिलता है। एलर्जी का उपचार होम्योपैथिक मेडिसिन से भी हो सकता है, इसके लिए किसी होमियोपैथी डॉक्टर से मिलकर सलाह ले।

■  जानिए रात को इलाइची खाकर गर्म पानी पीने से शरीर में क्या होता है

एलर्जी से बचने के घरेलू टिप्स

◘  अगर जानवरों से एलर्जी आलर्जी है तो उनसे दूर रहे।

◘  ताजी हवा अंदर आने के लिए घर को हवादार बनाए।

◘  अगर एलर्जी खाने पीने से है तो उन चीजों का सेवन ना करे।

◘  समय समय पर अपने ओढ़ने और सोने के बिस्तरों को गरम पानी से धोए।

◘  घर के आस पास और घर में सॉफ सफाई का ध्यान रखे और गंदगी जमा ना होने दे।

◘  घर से बाहर जाना हो तो धुल मिट्टी से बचने के लिए कोई सॉफ कपड़ा मुंह पर बँधे और आँखो पर चश्मा भी लगाए।

◘  जिसे एलर्जी हो उसे सॉफ सफाई खुद नहीं करनी चाहिए इससे वे धूल मिट्टी से बचे रहेंगे और अगर करनी पड़े तो चेहरे पर एक कपडा बांध ले। इसके इलावा धूल मिट्टी की जगह की सफाई करने के लिए आप गीले कपड़े का इस्तेमाल करे।

■  एड़ी के असहनीय दर्द को भगाये चुटकियों में, बस आज़माएँ ये आसान सा घरेलू उपाय.!

दोस्तों एलर्जी का इलाज के घरेलू उपाय, Home Remedies for Allergy in Hindi का ये लेख आपको कैसा लगा कमेन्ट कर के बताये और अगर आपके पास त्वचा, गले, साँस की एलर्जी का उपचार के देसी नुस्खे है तो हमारे साथ शेयर करे।

Loading...

Leave a Reply