एसिडिटी का इलाज इन हिंदी

अक्सर लोगों को मसालेदार खाना या बाहर का खाने के बाद एसिडिटी की समस्या हो जाती है। इसकी वजह से पेट में भी दर्द होने लगता है। ज्यादातर तले और चटपटा खाना खाने वालों को इस परेशानी का समाना करना पड़ता है। लेकिन आप कुछ घरेलु उपायों से एसिडिटी की समस्या से राहत पा सकते है।

आइये जानें gas acidity ka ilaj, acidity ka gharelu upchar in hindi, pet me jalan ka ilaj in hindi, acidity rog hindi, acidity ke liye medicine, acidity ka ilaj bataye, gas ka ilaj, acidity me kya nahi khana chahiye।
■  सफ़ेद बालों को इतना काला बनाएगा की खुद देखकर चकित रह जाओगे

एसिडिटी के घरेलू उपाय इन हिंदी

Acidity Ka Gharelu Upay In Hindi

तुलसी

तुलसी की पत्तियां सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों के अलावा एसिडिटी में भी ये आराम दिलाने में मददगार साबित होती है।

जीरा

अगर घर में जीरा नहीं है तो बाजार से मंगवाकर जीरे को भून लें और फिर काले नमक के साथ इसका सेवन करें ऐसा करने से आपको तुरंत आराम मिल जाएगा।

आंवला

इस परेशानी में आपको आंवले का सेवन करना चाहिए, आप घर पर आंवला टॉफी भी बनाकर या बाजार से खरीदकर भी ला सकते हैं।

अदरक

एसिडिटी के इलाज में अचूक उपाय है। अदरक की चाय इस परेशानी में बहुत लाभदायक है। अदरक के छोटे छोटे टुकड़े करे और एक गिलास पानी में गर्म करके छानकर पानी को गुनगुना होने पर सेवन करे।

■  रोज सुबह पानी में मिलाकर पियें यह चीज़, खत्म हो जाएगी खून की कमी, एसिडिटी, डायबिटीज और जोड़ो का दर्द

एलोविरा का जूस

एसिडिटी और पेट की जलन की समस्या में एलोविरा का जूस एक बेहतरीन उपाय है। प्रतिदिन इसका प्रयोग करने से एसिडिटी से छुटकारा मिलता है।

3.  गुलुकंद का सेवन भी काफी हद तक एसिडिटी की रोकथाम में उपयोगी है।

4. अजवायन, सौंफ, जीरा व सवा के बीज के एक-एक चम्मच को पानी में उबाले फिर इसे छानकर रोजाना दो से तीन बार सेवन करे। ऐसा करने से पेट की समस्याओ से निजात मिलता है।

5. एक चम्मच बेकिंग सोडा को एक गिलास पानी में मिलाकर सेवन करने से एसिडिटी से जल्दी ही आराम मिलता है।

6. राजीव दिक्षित जी कहते है की दस ग्राम किशमिश को रात को भिगोकर सुबह खाने से एसिडिटी से आराम मिलता है ।

7. बादाम एसिड को नियंत्रित करने का काम करता है । पेट में जलन होने पर तीन से चार बादाम खाये।

8. पेट में गैस की परेशानी जलन की समस्या व पेट दर्द में लौंग इलायची और तुलसी के पत्तों का प्रयोग बहुत ही उपयोगी व बेहतरीन इलाज है।

9. कददू , पत्तागोभी ,गाजर और प्याज से बनी सब्जियां पेट में जलन होने पर सेवन करे।

10. भोजन करने के बाद एक गिलास पुदीने का पानी उबाल कर पीने से भी एसिडिटी से आराम मिलता है।

■  लगातार 7 रातों तक सोने से पहले चेहरे पर इसे लगाने से इतना ग्लो आ जाएगा की सब पूछने लगेंगे

एसिडिटी के आयुर्वेदिक नुस्खे

Acidity Ke Ayurvedic Nuskhe In Hindi

1. एसिडिटी के उपाय में आंवला बहुत उपयोगी है, रोजाना आंवले का चूर्ण एक गिलास पानी के साथ सेवन करे। इसके आधे घण्टे के बाद कुछ ना खाये पिये। इसके इलावा आंवले के जूस का भी प्रयोग भी कर सकते है।

2. मुलठी के चूर्ण का सेवन करने से गले में जलन और एसिडिटी की परेशानी से राहत मिलती है। मुलठी का काढ़ा बनाकर सेवन करने से यह और भी असरदार साबित होता है।

3. अशवगंधा का इस्तेमाल एसिडिटी में रामबाण आयुर्वेदिक नुस्खा है। एक गिलास दूध में अशवगंधा मिला कर लेने से एसिडिटी में आराम मिलता है।

4. रात को एक गिलास पानी में नीम की छाल को भिगोकर रख दे और सुबह इस पानी को छानकर इसका सेवन करे या नीम की छाल का चूर्ण बनाकर प्रयोग करे।

5. मुन्नका भी एसिडिटी का उपचार में कामयाब तरीका है। इसे एक गिलास दूध में उबाल ले और दूध पिए या फिर दूध के साथ सेवन करे।

6. पांच से सात गिलोय की जड़ के टुकड़े ले और इन्हें पानी में उबाल ले, फिर गुनगुना होने पर आराम से घूट-घूट कर पिए।

7. रात के समय त्रिफला के चूर्ण को शहद के साथ उपयोग करे। इससे भी काफी लाभ मिलता है।

■  रात को इसकी सिर्फ़ 1 चम्मच लेने से गठिया, साइटिका, मोटापा, हार्ट अटैक और कैंसर जड़ से खत्म हो जाएगी!

दोस्तों acidity ka gharelu ilaj in hindi, acidity in hindi meaning, acidity rog hindi, acidity ka ilaj gharelu nuskhe aur ayurvedic upchar in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास acidity ka desi ilaj, acidity ka permanent ilaj in hindi, acidity ki dawa in hindi के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

8 COMMENTS

  1. […] से पीड़ित है। जैसे पेट में गैस बनना, एसिडिटी, पेट में दर्द और जलन होना। इन सब के […]

  2. […] पत्तों का रस दिन में 2 बार पीने से एसिडिटी में लाभ मिलता है तथा इसके कारण से होने […]

Leave a Reply