हल्दी के फायदे और नुकसान haldi ke fayde aur nuksan in hindi

हल्दी के औषधीय गुण | हल्दी के फायदे स्किन के लिए | हल्दी के फायदे और नुकसान

हल्‍दी का प्रयोग लगभग सभी प्रकार के खाने में किया जाता है। यह व्यंजनों के स्वाद में तो इजाफा करती ही है साथ ही इसमें अनेक औषधीय गुण भी होते हैं। यह गर्म और रूखी होती है। त्वचा, पेट और शरीर की कई बीमारियों में हल्दी का प्रयोग किया जाता है। गुणकारी हल्‍दी के अलग-अलग लाभ उठाने के लिए आपको किसी वैद्य या विशेषज्ञ की शरण में जाने की जरूरत नहीं है। अपने घर पर ही छोटे-छोटे प्रयोग कर इसके अलग-अलग लाभ उठाए जा सकते हैं। आइए आपको हल्दी के गुणों के बारे में बताते हैं। हल्दी के फायदे और नुकसान

आइये जानें दूध पीने का सही समय, हल्दी दूध के फायदे, हल्दी दूध बनाने की विधि, हल्दी का दूध बनाने का तरीका, सर्दी में हल्दी वाला दूध, सोने से पहले हल्दी दूध लाभ, हल्दी का दूध पीने के फायदे, हल्दी दूध के फायदे और नुकसान, हल्दी और दूध 
  इन लोगों को कभी नहीं करना चाहिए हल्दी का सेवन

आयुर्वेद हल्दी | हल्दी के फायदे

Haldi Powder Benefits In Hindi 

1 मधुमेह के रोग में हल्दी के फायदे (Haldi For Diabetes In Hindi)

इससे, बार-बार और अधिक मात्रा में पेशाब का आना, ज्यादा प्यास लगना, आदि मधुमेह के रोगों से आराम मिलता है।

प्रयोग 1

1 चम्मच पिसी हुई हल्दी को फांककर पानी पीने से मधुमेह में हो रहे बार-पेशाब से आराम मिलता है।

प्रयोग 2

8 ग्राम पिसी हल्दी रोजाना दो बार पानी के साथ फंकी लें।

2 त्वचा के रोग (Haldi For Skin Problems In Hindi)

प्रयोग 1

हल्दी को पीसकर तिल के तेल में मिलाकर मालिश करें इससे चर्म रोग खत्म हो जाएगा।

प्रयोग 2

अगर शरीर में खुश्की (चमड़ी सूख) गई हो तो सरसों के तेल में हल्दी को मिलाकर शरीर पर उसकी मालिश करने से लाभ होता है।

3 हाथ-पैर फटना 

इससे हाथ-पैर भी नहीं फटते हैं और यदि फट भी गये हों तो उनमें हल्दी भर दें तो फायदा होगा।

प्रयोग 1

कच्चे दूध में पिसी हुई हल्दी मिलाकर त्वचा पर मालिश करने से त्वचा मुलायम होती है।

 रोज सुबह खाली पेट हल्दी का पानी पीने के चमत्कारिक फायदे जान कर दंग रह जायेंगे आप

4 चेहरे की झांइयां (Haldi For Skin In Hindi)

10-10 ग्राम हल्दी और तिल को पीसकर पानी में मिलाकर रात को सोते समय चेहरे पर लगाएं और सुबह गर्म पानी से धो लें। इससे चेहरा चमक उठता है।

हल्दी चेहरे के लिए

5 टांसिल का बढ़ना (Haldi For Tonsil In Hindi)

2 चुटकी पिसी हुई हल्दी, आधी चुटकी पिसी हुई कालीमिर्च और 1 चम्मच अदरक के रस को मिलाकर आग पर गर्म कर लें और फिर शहद में मिलाकर रात को सोते समय पीने से 2 ही दिन में टांसिल की सूजन दूर हो जाती है।

6 शरीर को शक्तिशाली बनाना (Haldi For Strong Body In Hindi)

लगभग 500 ग्राम की मात्रा में हल्दी की गांठे और एक किलो बुझा हुआ चूना लेकर इसको एक मिट्टी के बर्तन में डालकर इसमें ऊपर से 2 लीटर पानी डालें। पानी डालते ही चूना पकने लगता है और जब यह ठण्डा हो जाए तो बर्तन को ढककर रख दें। इसके बाद 2 महीने बाद हल्दी की गांठों को निकालकर पीसकर चूर्ण बना लें। हल्दी की गांठों के चूर्ण को 3 ग्राम की मात्रा में लेकर 10 ग्राम शहद के साथ मिलाकर लगातार 4 महीने तक रोजाना खाने से शरीर का खून साफ हो जाता है और इससे शरीर में भरपूर ताकत आती है।

7 चोट लगने पर (Haldi For Injury In Hindi)

प्रयोग 1 

चोट लगने पर एक चम्मच हल्दी गर्म दूध के साथ पीने से दर्द और सूजन दूर हो जाती है।

प्रयोग 2

चोट लगी जगह पर हल्दी को पानी में मिलाकर उसका लेप लगाएं और अगर चोट ज्यादा गहरा हो तो उसमें हल्दी भर दें इससे चोट जल्द भर जाएगी।

प्रयोग 3

आंख में चोट लगने पर भी हल्दी को खाया जा सकता है।

प्रयोग 4

घी, आधा चम्मच सेंधानमक, थोड़ा-सा पानी मिलाकर हलुवा सा बनाकर चोट पर रखकर बांधें।

प्रयोग 5

आधा लीटर उबलते हुए गर्म पानी में आधा चम्मच सेंधानमक डालकर हिलाएं फिर इसमें एक चम्मच हल्दी डालें और बर्तन को उतारकर रख दें जब पानी सेक करने लायक हो जाये तो कपड़ा भिगोकर चोट वाले अंग पर इससें सेंक करें। इससे दर्द में आराम मलेगा।

  हल्दी दूध करेगा कैंसर को जड़ से खत्म, कीमोथेरेपी के बुरे प्रभाव को भी करेगा कम

8 हड्डी के टूटने पर (Haldi For Bones In Hindi)

हड्डी के टूटने पर रोज हल्दी का सेवन करने से लाभ मिलता है।

प्रयोग 1

एक प्याज को पीसकर एक चम्मच हल्दी मिलाकर कपड़े में बांध लें। इसे तिल के तेल में रखकर गर्म करें और इससे फिर सेंक करें। कुछ देर सेंकने के बाद पोटली खोलकर दर्द वाले स्थान पर बांध दें।

9 दांत दर्द  (Haldi For Toothache In Hindi)

हल्दी, नमक और सरसों का तेल मिलाकर रोज मंजन करें। इससे दांत मजबूत बनेंगे।

10 पेट की गैस (Haldi For Acidity In Hindi)

पेट में जब गैस भर जाती है तो बहुत दर्द होता है। ऐसी स्थित में

प्रयोग 1

पिसी हुई हल्दी और सेंधानमक 5-5 ग्राम की मात्रा में पानी से लें।

11 गठिया (Haldi For Arthritis In Hindi)

गठिया के रोग में हल्दी के लड्डू खाने से लाभ होता है।

12 खुजली (Haldi For Itching In Hindi)

शरीर के पीले रंग के दाने जिसमें मवाद भरी हो और उनमें खुजली हो तो

प्रयोग 1

एक चम्मच हल्दी, एक कप गर्म दूध, चौथाई चम्मच देशी घी, स्वाद के लिए शक्कर डालकर सुबह शाम पियें।

■  सुबह खाली पेट निम्बू पानी पीते समय लाखों लोग एक गलती कर देते हैं जिस से पूरा फायदा नहीं मिल पाता

13 चेचक (Haldi For Chicken Pox In Hindi)

प्रयोग 1

हल्दी और इमली के बीज समान मात्रा में पीसकर चुटकी भर प्रतिदिन 7 दिनों तक लेने से माता (चेचक) नहीं निकलती है।

प्रयोग 2

चेचक के निकलने पर इमली के बीज का चूर्ण हल्दी में मिलाकर लेने से चेचक जल्द ही ठीक हो जाता है।

प्रयोग 3

चेचक के दानों में अगर घाव हो जाये तो पान के कत्थे को हल्दी के संग सूखा ही छिड़के तो वह ठीक हो जायेगा।

14 सौन्दर्यवर्धक (Haldi For Beautiful Glowing Skin In Hindi)

प्रयोग 1

पिसी हुई हल्दी, चंदन का बुरादा, पिसे हुए हरे नीम के पत्ते प्रत्येक 2-2 चम्मच में लेकर मिला लें और चेहरे पर मलें। इससे चेहरा चमक उठेगा और इस प्रयोग से चेहरे के कील मुंहासें, दाग-धब्बे दूर हो जाएंगे। कुछ हफ्ते लगातार इसे मलने से चेहरे का रंग भी साफ हो जाता है।

haldi ke fayde for skin in hindi

15 आंखों के रोग (Haldi For Eye Problems In Hindi)

इससे झामर रोग, सफेद फूली और आंखों की लालिमा में लाभ होता है।

प्रयोग 1

हल्दी को अरहर की दाल में पकायें और छाया में सुखा लें उसे पानी में घिसकर, शाम होने से पहले ही दिन में दो बार जरूर लगायें

16 पथरी (Haldi For Stone In Hindi)

हल्दी और पुराना गुड़ छाछ में मिलाकर सेवन करने से पथरी नष्ट हो जाती है।

■  ये उपाय मोमबत्ती की तरह पिघला देगा आपके पेट और कमर की चर्बी को, सबसे अच्छा प्राकृतिक घरेलू उपाय

17 मस्से (Haldi For Moles In Hindi)

इससे मस्से तुरन्त नर्म हो जाते हैं और दर्द दूर होता है।

प्रयोग 1

हल्दी की गांठ को अरहर की दाल में पकायें फिर छाया में सुखाकर, गाय के घी में पीसकर (मस्सों) पर उसका लेप करें,

18 बालों का आकर्षक (Haldi For Hair In Hindi)

इससे बाल नहीं गिरते और नये बाल भी उगते हैं। बाल सुन्दर और आकर्षक भी बन जाते हैं।

प्रयोग 1 

कच्ची हल्दी में चुकन्दर के पत्तों का रस मिलाकर सिर में लगायें

19 दीर्घायु (Haldi For Longevity In Hindi)

हल्दी का सेवन नियमित रूप से करने से वृद्धावस्था में देर में आती है और लंबी आयु प्राप्त होती है।

20 श्वास, दमा रोग (Haldi For Breathing Problems In Hindi)

अस्थमा (दमा) के रोगी आजमाएं ये नुस्खा –

प्रयोग 1

हल्दी को पीसकर इसका चूर्ण बना लें और इस चूर्ण को तवे पर भूनकर शीशी में बंद करके रखें। इस चूर्ण को 5 ग्राम की मात्रा में हल्के गर्म जल के साथ प्रतिदिन सेवन करने से

21 खांसी (Haldi For Cough In Hindi)

खांसी, गले, सीने में घबराहट हो तो आजमाएं ये नुस्खा –

प्रयोग 1

गर्म पानी में हल्दी और नमक को मिलाकर पी लें।

प्रयोग 2

हल्दी का छोटा सा टुकड़ा मुंह में डालकर चूसते रहने से खांसी कभी नहीं आएगी।

  बवासीर के मस्से को जड़ से ख़तम करेगा यह प्रयोग, शरीर के अन्य मस्सों में भी है लाभकारी

22 पायरिया 

हल्दी को बारीक पीसकर सरसों के तेल में मिलाकर रख लें। रोजाना रात को सोते समय इस मिश्रण को दांतों पर मलें और बिना कुल्ला किए हुए सो जाएं। सुबह उठकर कुल्ला करने से पायरिया का रोग नष्ट होता है।

23 सूखी काली खांसी (Haldi For Dry Cough In Hindi)

सूखी काली खांसी दूर करने के लिए आजमाएं ये नुस्खा –

प्रयोग 1

हल्दी की 3-4 गांठों को तवे पर भूनकर पीस लेते हैं। फिर इसे 3 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम सेवन करने से

24 मसूढ़ों का रोग (Haldi For Gum Disease In Hindi)

मसूढ़ों के रोग से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के लिए करें ये प्रयोग –

प्रयोग 1

हल्दी को मोटा-मोटा कूटकर आग पर भून लें। इसे बारीक पीसकर कपड़े से छानकर प्रतिदिन सुबह-शाम मसूढ़ों पर मलें।

25 पेट के कीड़े (Haldi For Stomach Worms In Hindi)

इससे पेट के कीडे़ नष्ट करने के लिए करें हल्दी का ये प्रयोग –

प्रयोग 1

हल्दी को तवे पर अच्छी तरह से भूनकर रख लें, फिर आधा चम्मच की मात्रा में रात को सोने से पहले पानी के साथ पीये।

26 बवासीर (अर्श) (Haldi For Piles Bawasir In Hindi)

बवासीर के मस्सों से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के लिए करें ये प्रयोग –

प्रयोग 1

हल्दी और कसी हुई लौकी का चूर्ण पानी के साथ पीसकर या सरसों के तेल में पका लें। उस तेल को मदार के पत्ते में लगाकर बवासीर के मस्सों पर लगायें और लंगोट कसें। इससे मस्से सूखकर गिर जाते हैं।

■  शरीर के ये लक्षण बताते हैं कि आप जानलेवा कैंसर के शिकार, इन्हे नज़रअंदाज़ करना यानी मौत को बुलाना

27 कान का बहना (Haldi For Ear Flux In Hindi)

कान में से मवाद बहता है तो आजमाएं ये नुस्खा –

प्रयोग 1

3 ग्राम हल्दी, 10 ग्राम नीम के पत्तों का चूर्ण और 10 ग्राम लहसुन की कलियों को 200 ग्राम सरसों के तेल में डालकर पका लें। इस तेल को बूंद-बूंद करके कान में डालने से

28 चक्कर आना (Haldi For Dizziness In Hindi)

चक्कर आने की समस्या में हल्दी का ये प्रयोग बहुत ही लाभकारी है –

प्रयोग 1

कच्ची (ताजी) हल्दी पीसकर सिर पर लेप की तरह से लगाने से

29 एक्जिमा (Haldi For Eczema In Hindi)

एक्जिमा से मुक्ति पाने के लिए करें हल्दी का ये प्रयोग –

प्रयोग 1

वासा (अडू़सा) के कोमल पत्तों को हल्दी में मिलाकर गौमूत्र (गाय का पेशाब) के साथ पीसकर लेप करने से

30 बिवाई के फटने पर 

कच्चे दूध में पिसी हुई हल्दी को मिलाकर शरीर पर लेप करने से त्वचा मुलायम होती है और हाथ-पैर नहीं फटते हैं।

हल्दी से नुकसान

हल्दी का अधिक मात्रा में उपयोग हृदय के लिए हानिकारक हो सकता है।

  एक दिन में बस इसके 2 कप और सारा फैट स्वचालित रूप से पिघल जाएगा

दोस्तों haldi ke upay in hindi, turmeric milk benefits in hindi, haldi water benefits in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास shahad aur haldi ke fayde, haldi wala doodh ke nuksan, haldi wala doodh ke fayde के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

Loading...

Leave a Reply