हर्निया hernia ka ilaj in hindi

हर्निया के लक्षण कारण और इलाज इन हिंदी | हर्निया का देसी रामबाण नुस्खा

अंत्रवृद्धि (हर्निया-आंत उतारना) क्या है

हर्निया पेट की दीवार की दुर्बलता से होता हैं। आम बोलचाल की भाषा में हर्निया पेट के किसी भी हिस्से में पैदा होने वाले उभार को कहा जाता हैं। इसे आंत उतारना भी कहा जाता हैं। व्यक्ति जब लेटता हैं तो यह उभार गायब हो जाता हैं। विशेषज्ञ बताते हैं के ये रोग ज़्यादातर पुरुषो को होता हैं। आइये जाने इस का उपचार।

■  सिर्फ हस्त मुद्राओ द्वारा लगभग 100 रोगों का ईलाज संभव है वो भी आपके हाथो में, जानना चाहोगे कैसे?
आइये जानें hernia ayurvedic treatment in hindi, hernia ka ilaj in hindi, hernia meaning in english,harniya in english, harnia ki medicine।

हर्निया के दर्जनो प्रकार पाये जाते हैं, लेकिन छोटी आंत के कारण पैदा होने वाले हर्निया इस प्रकार हैं।

1. उदरगत
2. इंग्वाइनल
3. मलद्वारगत
4. पुराने शल्यक्रिया के घाव वाले स्थान पर (इंसीजनल)
5. नाभिगत (अमबलाइकल)

हर्निया के लक्षण

Hernia Ke Lakshan In Hindi

  • पुरुषो के अंडकोष में हवा या पानी भरने जैसा महसूस होना। उल्लेखनीय हैं के ये लक्षण लेटने पर समाप्त हो जाते हैं।
  • पेट में दर्द होना। यह दर्द निरंतर या कभी कभी हो सकता हैं।
  • नाभि क्षेत्र का किसी भी प्रकार से फूलना अथवा उसमे उभार महसूस होना।
■  ये पौधा गठिया, यूरिक एसिड और लिवर के लिए किसी वरदान से कम नही

हर्निया के कारण

Hernia Ke Karan In Hindi

  • कुपोषण श्रमिक अथवा अधिक वजन उठाने से।
  • समय से पूर्व पैदा होने वाले बच्चे में ये अधिक होते देखा गया हैं।
  • लगातार खड़े रहना जैसे सेल्समैन, अध्यापक, बस कंडक्टर, सुपरवाइजर जैसे कार्य करने वाले लोग।
  • वृद्धावस्था
  • लम्बे समय से कब्ज से पीड़ित रहना
  • लम्बे समय से खांसी से पीड़ित रहना
■  सर्दी, खांसी, जुकाम में रामबाण है ये जादुई नुस्खे, देंगे मिनटों में आराम

हर्निया का इलाज और घरेलू उपचार

Hernia Ka Ilaj Aur Gharelu Upchar In Hindi

1 मैगनेट बेल्ट

मेग्नेट का बेल्ट बाँधने से हार्निया में लाभ होता है।

2 त्रिफला

रात को सोते समय गुनगुने पानी के साथ १ चम्मच त्रिफला चूर्ण ले कर सोये।

3 नारायण तेल

नारायण तेल से मालिश करना चाहिए। मात्रा 1 से 3 ग्राम दूध के साथ पीना चाहिए।

■  रात को दूध के साथ इस चूर्ण से पेट साफ होगा, पेट की चर्बी गलेगी, बाल काले होंगे, शरीर फुर्तीला बनेगा

4 अरण्ड का तेल

अगर अंडकोष में वायु भरी हुयी प्रतीत हो तो एक कप दूध में २ चम्मच अरण्ड का तेल डालकर एक महीने तक पिलाये, इस से हर्निया सही होता हैं। और 1 से 10 मिलिग्राम अरण्डी के तेल में छोटी हरड़ का 1 से 5 ग्राम चूर्ण मिलाकर दे

5 कॉफ़ी

कॉफ़ी ज़्यादा पीने से भी इस रोग में बहुत लाभ मिलता हैं।

6 चुम्बकीय चिकित्सा

चुम्बकीय चिकित्सा से भी बहुत लाभ मिलता हैं। इसके लिए आप किसी चिकित्सक से परामर्श करे।

7 कदम्ब के पत्ते

नए रोग में कदम्ब के पत्ते पर घी लगाकर उसे आग पर हल्का सा सेक कर अंडकोष पर लपेट दे तथा लंगोट से बाँध ले।

8 अदरक का मुरब्बा

नियमित रूप से दस ग्राम अदरक का मुरब्बा सवेरे खाली पेट सेवन करने से हर्निया रोग ठीक होता हैं। एक से दो महीने सेवन करने से ही प्रयाप्त लाभ होता हैं।

■  क्या होता है? जब नाभि पर 2 घंटे के लिए आँवले का चूर्ण अदरक के रस में मिलाकर बाँध दिया जाता है..!!

हर्निया का आयुर्वेदिक इलाज

Hernia Ka Ayurvedic Ilaj In Hindi

वृद्धिबाधिका वटी

वृद्धिबाधिका वटी दो दो गोलिया दिन में दो बार ताज़ा पानी या बड़ी हरड़ के काढ़े के साथ ले।

आयुर्वेद में इस औषिधि की बड़ी महिमा हैं, इसके नियमित सेवन से हर्निया तथा अंडकोष में वायु भरना, दर्द होना, पानी भरना इत्यादि लक्षण शांत होने लगते हैं। नए रोग की तो ये रामबाण दवा हैं।

नोट 1

यदि इस औषधि के सेवन से किसी का जी मिचलता हो या बेचैनी होती हो तो निम्बू की शिकंजी या काला नमक मिलायी हुई छाछ के साथ औषिधि ग्रहण करवाये। इस औषिधि के तुरंत बाद गर्म तासीर वाले कोई भी आहार ना ले जैसे चाय, कॉफ़ी, गरमा गर्म दूध इत्यादि। अगर सेवन करना हो तो एक घंटे के बाद ही कुछ सेवन करे।

नोट 2

यदि साथ में कब्ज रहता हो तो वृद्धिबाधिका वटी के साथ साथ आरोग्यवर्धनी वटी दो दो गोलिया दिन में दो बार अवश्य ही सेवन करे।

■  अदरक की चाय और सिंपल चाय को छोड़िये, पीजिये प्याज की चाय फिर देखिये धमाल!!

ध्यान रखे

  • खांसी को बढ़ने नहीं दे तथा आयुर्वेदीय पथ्य का पालन करते हुए समय रहते ही इसका इलाज कराये।
  • शरीर का वजन नहीं बढ़ने दे। मोटापे पर लगाम रखे।
  • मल त्यागते समय मल बाहर निकालने के लिए ज़ोर नहीं लगाये।
  • क्षमता से अधिक वजन भूलकर भी ना उठाये।
■  वजन कम करे सिर्फ एक दिन में 2 किलो तक.! बिना किसी परेशानी के !
  • कब्ज़ न रहने दे।
  • हर्निया के बीमारो को कम खाना चाहिए।
  • अंडरवियर हमेशा टाइट अथवा लंगोट धारण करे।
  कब्ज का है ये अद्भुत उपाय पहले ही प्रयोग में दिखेगा फर्क, जरूर अपनाएँ और शेयर करे

दोस्तों hernia operation ke baad, inguinal hernia hindi meaning, andkosh harniya, congenital hernia in hindi, hernia ka ramban ilaj in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास harnia ka elaj, hernia ke liye ilaj, hernia home remedy in hindi, hernia in hindi meaning, hernia ke lakshan in hindi, hern meaning in hindi, hernia home remedy in hindi के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

Loading...

Leave a Reply