संजीवनी भोजन sanjeevani bhojan ke fayde aur labh

संजीवनी भोजन | अंकुरित अनाज के फायदे और लाभ | अंकुरित अनाज कैसे बनाये ?

आज हम आपको ऐसे भोजन के बारे में बताने जा रहें है, जिसको अगर संजीवनी भी कहा जाए तो ग़लत नहीं होगा. इसके सेवन से आप खांसी जुकाम से लेकर कैंसर तक आप हर बीमारी से बच सकते हैं. ये भोजन स्वस्थ व्यक्ति को निरोगी बनाये रखता है, कमजोरों को शक्तिशाली, बच्चों को चैंपियन, बूढों को जवान, और जवानो को 100 वर्ष तक जवान बना कर रखता है. इसके फायदे अनगिनत हैं. आइये जाने चार चम्मच गेंहू के दाने और एक चम्मच मेथी दाना से बना ये संजीवनी भोजन.

  बवासीर के मस्से को जड़ से ख़तम करेगा यह प्रयोग, शरीर के अन्य मस्सों में भी है लाभकारी

संजीवनी भोजन कैसे बनाएं ?

Step 1 

चार चम्मच गेंहू के दाने और एक चम्मच मेथी दाना ले कर दोनों को चार पांच बार अच्छी तरह साफ़ जल से धो लीजिये. इस के बाद आधा गिलास पानी में डालकर चौबीस घंटे रखें.

Step 2

फिर इनको पानी से निकालकर एक मोटे गीले कपडे में बांधकर अंकुरित होने के लिए चौबीस घंटे तक हवा में लटका दीजये. गर्मियों में बीच बीच में पानी के छींटे मारते रहें.

Step 3

जिस पानी में गेंहू के दाने और मेथी दानो को भिगोया था उस पानी में आधा निम्बू निचोड़ कर दो ग्राम सौंठ का चूर्ण डाल दीजिये. इसमें दो चम्मच शहद घोलकर सुबह खाली पेट लें.

Step 4

अभी जो गेंहू के दाने और मेथी के दाने अंकुरण के लिए लटकाए थे, जब उनमे अंकुर फूट जाए (औसतन गर्मियों में चौबीस या अड़तालीस घंटों में अंकुरित हो जाते हैं.) इनको सुबह नाश्ते में पिसी काली मिर्च और सेंधा नमक बुरककर खूब चबा चबा कर खाएं.

■  शरीर के ये लक्षण बताते हैं कि आप जानलेवा कैंसर के शिकार, इन्हे नज़रअंदाज़ करना यानी मौत को बुलाना

संजीवनी भोजन के फायदे

Sanjeevani Nashte Ke Fayde Aur Labh In Hindi

•  खून की कमी है

•  ब्लड शुगर है (डायबिटीज)

•  कफ़

•  अस्थमा

•  शरीर कमज़ोर है

•  मोटापा अधिक है

•  कमजोरी रहती है

•  पूरा दिन आलस रहता है

•  खून में धक्के जमे हुए है

•  कमज़ोर दृष्टि है

•  कैंसर

•  हृदय रोगों

•  लीवर के रोगों

•   किडनी के रोगों के लिए

•  बच्चों के मानसिक और शारीरिक विकास के लिए

•  खिलाडियों के लिए ऊर्जावान

•  चेहरे को कश्मीरी सेब जैसा खिला रखने वाला, 100 वर्ष तक भी निरोगी रखने वाला चमत्कारिक भोजन है.

नोट

इसको हर आयु का व्यक्ति खा कर रक्त में जवानी का अहसास कर सकता है. कुल मिला कर इसको सर्व रोगों के लिए एक दवा कहा जा सकता है.

अंकुरण के लिए विशेष

1 अंकुरण के लिए बढ़िया से बढ़िया अनाज का उपयोग

2 गर्मियों में जहाँ अंकुरण एक दो दिन में हो जाता है, वहीँ सर्दियों में यह 3 से 4 दिन ले सकता है. इसलिए धैर्य रखें.

3 हर रोज़ आप ये नाश्ता कर सकें इसलिए जब तक अंकुरण फूटे नहीं, तब तक हर रोज़ नया गेंहू और मेथीदाना अंकुरित करते रहें. इस से तीन चार दिनों के बाद आपको निरंतर अंकुरित नाश्ता मिलना शुरू हो जायेगा..

  एक दिन में बस इसके 2 कप और सारा फैट स्वचालित रूप से पिघल जाएगा

नोट

आप सब भाई बहनों से अनुरोध है के आप जो भी प्रयोग करें उसके रिजल्ट हमसे ज़रूर शेयर करें. इस से अनेक लोगों को वो प्रयोग करने का साहस मिलेगा और आपको पुण्य मिलेगा.

Loading...

Leave a Reply