जायफल के फायदे jaiphal ke faye in hindi

जायफल के औषधीय गुण | जायफल का तेल | जायफल का प्रयोग

Nutmeg जायफल का पेड़ वृक्ष

इसका पेड़ काफी बड़ा होता है। इसकी 80 जातियां मानी जाती हैं। भारत व मालद्वीप में कुल 30 जातियां पायी जाती हैं। जायफल मूल रूप से एशिया महाद्वीप के पूर्व में स्थिति मलाका द्वीप का पेड़ है। जायफल के पेड़ दो तरह के होते हैं नर और मादा। मादा जाति के जायफल के फूल छोटी-छोटी मंजरियों पर आते हैं और पत्ते भाले के जैसे चौड़े होते हैं। नर जाति के जायफल के पत्ते बड़े होते हैं और उनको अंग्रेजी में मिरिस्टिका मेक्रोफिला कहते हैं। इन पत्तों को मसलने से कुछ सुगन्ध आती है। इन पेड़ों पर फूल तो होते हैं पर पुष्प-कोष नहीं होता है। जायफल के फायदे 

how to use nutmeg
  बालों में से रूसी हटाने के 10 आसान तरीके और घरेलू उपाय

सामग्री

• तीली का तेल 200 मिलीलीटर

• दो कप पानी

• 5 -6 जायफल

■  गर्दन में दर्द का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय और देसी नुस्खे
ayurvedic medicine jaiphal

जायफल का तेल बनाने की विधि

Jaiphal Oil Uses In Hindi

• सबसे पहले जायफल को दो कप पानी में अच्छे से घिस ले।

• फिर उसे 200 मिलीलीटर तिल्ली के तेल में अच्छी तरह गर्म करें। ठण्डा होने पर कमर की मालिश करें। इससे कमर दर्द से छुटकारा मिलता है।

• पान में जायफल का टुकड़ा डालकर खाने और जायफल को पानी में घिसकर बने लेप को गर्म-गर्म ही कमर में लगाकर मालिश करें। इससे कमर का दर्द समाप्त हो जाता है।

• जायफल को घिसकर रात में कमर पर इसका लेप करने से कमर दर्द मिट जाता है।

• एक भाग जायफल का तेल और चार भाग सरसों का तेल मिलाकर जोड़ों के दर्द, सूजन, मोच पर 2-3 बार मालिश करें। इससे आराम मिलेगा।

jaifal ke nuskhe

कितनी मात्रा में ले?

•  जायफल चूर्ण लगभग आधा ग्राम से एक ग्राम।

• जायफल का तेल 1 से 3 बूंद तक ही इस्तमाल करे ।

ध्यान रखे:

अधिक मात्रा में जायफल के उपयोग करने से मादक (नशीला) प्रभाव उत्पन्न होता है। इसके अलावाप्रलाप, चक्कर आना, मूढ़ता (बांझपन), यकृत और फेफड़ों पर दुष्प्रभाव होना, सिर दर्द और बेहोशी तक उत्पन्न हो सकती है। गर्म प्रकृति के लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

■  माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के 10 रामबाण घरेलू नुस्खे और उपाय

जायफल के फायदे

Nutmeg Benefits And Side Effects

1 गैस्ट्रिक, सर्दी-खांसी (Jaiphal For Gastric Cold Cough)

सुबह-सुबह खाली पेट आधा चम्मच जायफल चाटने से गैस्ट्रिक, सर्दी-खांसी की समस्या नहीं सताती है।

पेट में दर्द होने पर चार से पांच बूंद जायफल का तेल चीनी के साथ लेने से आराम मिलता है।

2 सिर दर्द में जायफल के फायदे (Jaiphal For Headache)

सर में बहुत तेज दर्द हो रहा हो तो बस जायफल को पानी में घिस कर लगाएं।

3 सर्दी के मौसम में (Jaiphal For Winter Season)

सर्दी के मौसम के दुष्प्रभाव से बचने के लिए जायफल को थोड़ा सा खुरचिये, चुटकी भर कतरन को मुंह में रखकर चूसते रहिये। यह काम आप पूरे जाड़े भर एक या दो दिन के अंतराल पर करते रहिये। यह शरीर की स्वाभाविक गरमी की रक्षा करता है, इसलिए ठंड के मौसम में इसे जरूर प्रयोग करना चाहिए।

honey and nutmeg for coughs

4 भूख न लग रही हो (Jaiphal For Loss Of Appetite)

इससे पाचक रसों की वृद्धि होगी और भूख बढ़ेगी, भोजन भी अच्छे तरीके से पचेगा।

क्या करें

चुटकी भर जायफल की कतरन चूसिये

5 दस्त में जायफल के फायदे (Jaiphal For Loose Motion)

दस्त आ रहे हों या पेट दर्द कर रहा हो तो जायफल को भून लीजिये और उसके चार हिस्से कर लीजिये एक हिस्सा मरीज को चूस कर खाने को कह दीजिये। सुबह शाम एक-एक हिस्सा खिलाएं।

6 फालिज में जायफल के फायदे (Jaiphal For Paralysis)

फालिज का प्रकोप जिन अंगों पर हो उन अंगों पर जायफल को पानी में घिसकर रोज लेप करना चाहिए, दो माह तक ऐसा करने से अंगों में जान आ जाने की संभावना देखी गयी है।

■  बदहजमी और फूड पाइज़निंग का इलाज 10 आसान घरेलू उपाय और नुस्खे

7 कमर दर्द में जायफल के फायदे (Jaiphal For Back Pain)

प्रसव के बाद अगर कमर दर्द नहीं ख़त्म हो रहा है तो करें ये प्रयोग –

क्या करें

जायफल पानी में घिसकर कमर पे सुबह शाम लगाएं, एक सप्ताह में ही दर्द गायब हो जाएगा।

8 फटी एडियों में जायफल के फायदे (Jaiphal For Cracked Heels)

फटी एडियों के लिए इसे महीन पीसकर बीवाइयों में भर दीजिये। 12-15 दिन में ही पैर भर जायेंगे।

9 ह्रदय मज़बूत (Jaiphal For Heart)

जायफल के चूर्ण को शहद के साथ खाने से ह्रदय मज़बूत होता है। पेट भी ठीक रहता है।

10 कान के पीछे गांठ (Jaiphal For Ganth)

अगर कान के पीछे कुछ ऎसी गांठ बन गयी हो जो छूने पर दर्द करती हो तो आजमाएं ये नुस्खा-

क्या करें

जायफल को पीस कर वहां लेप कीजिए जब तक गाठ ख़त्म न हो जाए, करते रहिये।

11 हैजा में जायफल के फायदे (Jaiphal For Cholera)

अगर हैजे के रोगी को बार-बार प्यास लग रही है, तो आजमाएं ये नुस्खा-

क्या करें

जायफल को पानी में घिसकर उसे पिला दीजिये।

12 जी मिचलाना (Jaiphal For Nausea)

जी मिचलाने की बीमारी भी जायफल को थोड़ा सा घिस कर पानी में मिला कर पीने से नष्ट हो जाती है।

13 आँखों की ज्योति (Jaiphal For Eyes)

इसे थोडा सा घिसकर काजल की तरह आँख में लगाने से आँखों की ज्योति बढ़ जाती है और आँख की खुजली और धुंधलापन ख़त्म हो जाता है। यह शक्ति भी बढाता है।

14  आवाज (Jaiphal For Voice)

जायफल आवाज में सम्मोहन भी पैदा करता है।

■  दस्त रोकने और पेट की मरोड़ का इलाज के 10 आसान उपाय

15 चेहरे की चमक (Jaiphal For Glowing Skin)

jaiphal for pimples in hindi

जायफल और काली मिर्च और लाल चन्दन को बराबर मात्रा में लेकर पीसकर चेहरे पर लगाने से चेहरे की चमक बढ़ती है, मुहांसे ख़त्म होते हैं।

16 बार-बार पेशाब (Jaiphal For Urine Problems)

किसी को अगर बार-बार पेशाब जाना पड़ता है तो आजमाएं ये नुस्खा-

क्या करें

जायफल और सफ़ेद मूसली 2-2 ग्राम की मात्र में मिलाकर पानी से निगलवा दीजिये, दिन में एक बार, खाली पेट, 10 दिन लगातार।

17 सर्दी-जुकाम (Jaiphal For Cold)

बच्चों को सर्दी-जुकाम हो जाए तो आजमाएं ये नुस्खा-

क्या करें

जायफल का चूर्ण और सोंठ का चूर्ण बराबर मात्रा में लीजिये फिर 3 चुटकी इस मिश्रण को गाय के घी में मिलाकर बच्चे को सुबह शाम चटायें।

18 झाईयों को हटाने के लिए (Jaiphal For Jhaiyaan)

चेहरे पर या फिर त्वचा पर पड़ी झाईयों को हटाने के लिए आपको जायफल को पानी के साथ पत्थर पर घिसना चाहिए। घिसने के बाद इसका लेप बना लें और इस लेप का झाईयों की जगह पर इस्तेमाल करें, इससे आपकी त्वचा में निखार भी आएगा और झाईयों से भी निजात मिलेगी।

19 झुर्रियां में जायफल के फायदे (Jaiphal For Wrinkles)

jaifal ke fayde for skin

चेहरे की झुर्रियां मिटाने के लिए करें ये प्रयोग –

क्या करें

जायफल को पीस कर उसका लेप बनाकर झुर्रियों पर एक महीने तक लगाएंगे तो आपको जल्द ही झुर्रियों से निजात मिलेगी।

20 काले घेरे में जायफल के फायदे (Jaiphal For Dark Circles)

आंखों के नीचे काले घेरे हटाने के लिए करें ये प्रयोग –

क्या करें

रात को सोते समय रोजाना जायफल का लेप लगाएं और सूखने पर इसे धो लें। कुछ समय बाद काले घेरे हट जाएंगे।

21 अनिंद्रा में जायफल के फायदे (Jaiphal For Insomnia)

अनिंद्रा का स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है और इसका त्वचा पर भी दुष्प्रभाव पड़ता है। त्वचा को तरोताजा रखने के लिए भी जायफल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या करें

रोजाना जायफल का लेप अपनी त्वचा पर लगाना होगा। इससे अनिंद्रा की शिकायत भी दूर होगी और त्वचा भी तरोजाता रहेगी।

22 चोट के निशान (Jaiphal For Injury marks)

कई बार त्वचा पर कुछ चोट के निशान रह जाते हैं तो कई बार त्वचा पर नील और इसी तरह के घाव पड़ जाते हैं। जायफल में सरसों का तेल मिलाकर मालिश करें। जहां भी आपकी त्वचा पर पुराने निशान हैं रोजाना मालिश से कुछ ही समय में वे हल्के होने लगेंगे। जायफल से मालिश से रक्त का संचार भी होगा और शरीर में चुस्ती-फुर्ती भी बनी रहेगी।
जायफल के लेप के बजाय जायफल के तेल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

■  गर्मी और लू से बचने के लिए 10 आसान घरेलू उपाय हिंदी में

23 दांत दर्द में जायफल के फायदे (Jaiphal For Toothache)

दांत में दर्द होने पर करें ये प्रयोग –

क्या करें

जायफल का तेल रुई पर लगाकर दर्द वाले दांत या दाढ़ पर रखें, दर्द तुरंत ठीक हो जाएगा। अगर दांत में कीड़े लगे हैं तो वे भी मर जाएंगे।

24 पेट दर्द में जायफल के फायदे (Jaiphal For Stomachache)

पेट में दर्द हो तो करें ये प्रयोग –

क्या करें

जायफल के तेल की 2-3 बूंदें एक बताशे में टपकाएं और खा लें। जल्द ही आराम आ जाएगा।

25 मुंह के छाले, गले की सूजन (Jaiphal For Chale)

इस प्रयोग से मुंह के छाले ठीक होंगे, गले की सूजन भी जाती रहेगी।

क्या करें

जायफल को पानी में पकाकर उस पानी से गरारे करें।

26 मुंहासे (Jaiphal For Acne)

jaiphal for skin

इस प्रयोग से मुंहासे ठीक हो जाएंगे और चेहरे निखारेगा।

क्या करें

जायफल को कच्चे दूध में घिसकर चेहरें पर सुबह और रात में लगाएं।

27 सर्दी में जायफल के फायदे (Jaiphal For Cold)

एक चुटकी जायफल पाउडर दूध में मिला कर लेने से सर्दी का असर ठीक हो जाता है। इसे सर्दी में प्रयोग करने से सर्दी नहीं लगती।

28 जोड़ों का दर्द, सूजन, मोच (Jaiphal For Joint Pain)

जोड़ों का दर्द, सूजन, मोच आदि में राहत मिलेगी। इसकी मालिश से शरीर में गर्मी आती है, चुस्ती फुर्ती आती है और पसीने के रूप में विकार निकल जाता है।

क्या करें

सरसों का तेल और जायफल का तेल 4:1 की मात्रा में मिलाकर रख लें। इस तेल से दिन में 2-3 बार शरीर की मालिश करें।

29 गैस और अफारा (Jaiphal For Acidity)

गैस और अफारा की परेशानी दूर करने के लिए करें ये प्रयोग –

क्या करें

जायफल, सौंठ और जीरे को पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को भोजन करने से पहले पानी के साथ लें।

30 बवासीर में जायफल के फायदे (Jaiphal For Bawaseer)

दस जायफल लेकर देशी घी में अच्छी तरह सेंक लें। उसे पीसकर छान लें। अब इसमें दो कप गेहूं का आटा मिलाकर घी में फिर सेकें। इसमें शक्कर मिलाकर रख लें। रोजाना सुबह खाली पेट इस मिश्रण को एक चम्मच खाएं, बवासीर से छुटकारा मिल जाएगा।

31 गैस और कब्ज में जायफल के फायदे (Jaiphal For Constipation)

गैस और कब्ज की तकलीफ दूर करने के लिए करें ये प्रयोग –

क्या करें

नीबू के रस में जायफल घिसकर सुबह-शाम भोजन के बाद सेवन

32 शिशु को दूध हजम न हो तो (Jaiphal For Baby)

jaiphal benefits for baby

शिशु का दूध छुड़ाकर ऊपर का दूध पिलाने पर यदि दूध पचता न हो तो करें ये प्रयोग –

क्या करें

दूध में आधा पानी मिलाकर, इसमें एक जायफल डालकर उबालें। इस दूध को थोडा ठण्डा करके कुनकुना गर्म, चम्मच कटोरी से शिशु को पिलाएँ, यह दूध शिशु को हजम हो जाएगा।

jaiphal for babies sleep
■  पेशाब में रुकावट का इलाज और रुक रुक कर आने के 10 उपाय इन हिंदी
Loading...

Leave a Reply