खुजली और फोड़ा फुंसी khujli aur phoda phunsi ka ilaj in hindi

खुजली और फोड़ा फुंसी | खुजली दूर करने के घरेलू नुस्खे | फुंसी के घरेलू उपाय | फोड़े का उपचार

आज कल अधिकतर लोग खाज-खुजली से परेशान है।लोग बहुत सारा पैसा खुजली से निजात पाने के लिए खर्च करते हैं लेकिन कोई फायदा नही मिल पाता है। इसलिए इलाज करवाने से पहले यह जानना जरूरी है की इलाज कितना कारगर है। खुजली और फोड़ा फुंसी

आइये जानें फोड़ा फुंसी मेडिसिन, फोड़ा के उपचार, फोड़े की अंग्रेजी दवा, फोड़े फुंसी की टेबलेट, चेहरे की फुंसी, फोड़े फुंसी का इलाज आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे व देसी उपाय, फोड़ा का उपचार treatment in Hindi.
■   चाहे कितनी भी पुरानी खुजली क्यों ना हो, सिर्फ 1 घंटे में सफाया इस चमत्कारी घरेलु उपाय से, जरूर अपनाएँ और शेयर करे

खुजली और फोड़ा फुंसी से छूटकारा पाने के लिए चिरायता का प्रयोग

खुजली और फोड़े-फुंसियों से छूटकारा पाने के लिए आयुर्वेद में एक अतिप्रभावशाली औषधि है जो खाज-खुजली को जड़ से मिटा देता है। इसके साथ ही यह औषधि चेहरे पर होने वाले फोड़े और फुंसियों को भी मिटा देता है। इस रामबाण औषधि का नाम चिरायता है जो सामान्य जड़ी-बूटी के दुकानों में भी आसानी से मिल जाता है।

चिरायता

आयुर्वेद के मतानुसार चिरायता का रस तीखा, गुण में लघु, प्रकृति में गर्म तथा कड़ुवा होता है। चिरायता मन को प्रसन्न करता है। इसके सेवन से पेशाब खुलकर आता है। यह सूजनों को पचाता है। दिल को मजबूत व शक्तिशाली बनाता है।

अदीठ फोड़ा | कांख में फोड़ा | सिर में खुजली का इलाज | नाक पर फुंसी | सिर में फुंसी | चेहरे की फुंसी का इलाज | पूरे शरीर में खुजली

बनाने का तरिका 

लगभग 5 से 10 ग्राम चिरायता को एक ग्लास पानी में रात को डुबो कर छोड़ दें और सुबह खाली पेट नित्य क्रिया के बाद चिरायता छान कर पानी पी ले।

सेवन करने के तरिका

2 से 3 महीने तक लगातार ऐसे ही सुबह-शाम चिरायते का सेवन करने से खाज-खुजली सदा के लिए ख़त्म हो जाता है।तब तक खुजली से राहत के लिए कोई भी फफूंदरोधी मलहम का इस्तमाल कर सकते हैं।

■   टॉन्सिल के लक्षण और कारण, जानें इसका पक्का और रामबाण घरेलु इलाज, 3 दिन में पाएं परमानेंट इलाज

त्वचा सम्बंधी अन्य रोग

खुजली, फोडे़ फुन्सी

खुजली, फोडे़ फुन्सी जैसे रोगों में चिरायता का लेप लगाना चाहिए। इससे ये सभी रोग नष्ट हो जाते हैं।

खून साफ और त्वचा के रोग 

रात को पानी में चिरायते की पत्ती को डालकर रख दें। रोजाना सुबह उठते ही इसका पानी पीने से खून साफ हो जाता है और त्वचा के रोग मिट जाते हैं।

फोड़े-फुन्सी, यकृति-विकार, जी मिचलाना, भूख न लगना

1 चम्मच चिरायता 2 कप पानी में रात को भिगोकर सुबह के समय छानकर सेवन करें। इससे फोड़े-फुन्सी, यकृति-विकार, जी मिचलाना, भूख न लगना आदि रोगों में लाभ होता है। यदि कड़वा पानी पिया नहीं जा सके तो स्वादानुसार मिश्री मिलाकर पीते हैं।

■   गर्म दूध में गुड़ डालकर पीने के जबरदस्त फायदे, बड़े से बड़े रोग को करे ठीक

दोस्तों फोड़े फुंसी के देसी इलाज, Fode Funsi ke gharelu upchar, कैसे फोड़े का इलाज करें का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास home remedies foda funsi, गर्मियों में होने वाले फोड़े फुंसी, Home remedies for phora (foda) and funsi के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

Loading...

Leave a Reply